Category: देश

February 3, 2019

आज की शिक्षा – प्रारूप, व्यवस्था और असलियत

आज कुछ महत्वपूर्ण लिखने का मन किया, इसलिए सुबह से ही मैं विचार कर रहा था कि किस विषय पर मैं लिखूं क्योंकि मुझे उस विषय पर बात करना था जो आज के दौर में सबसे जरूरी है, तभी अचानक मेरा दिमाग एक विषय से टकरा गया और वह था “शिक्षा” शिक्षा शब्द संस्कृत भाषा के “शिक्ष” से बना है, जिसका अर्थ है सीखना या सिखाना इस […]

January 26, 2019

आज का गणतंत्र दिवस और उसके मायने (Republic Day Special)

आज 26 जनवरी है, यानी गणतंत्र दिवस! रात के 9:00 बज रहे है यह अलग बात है कि बहुतों के लिए यह “गणतंत्र दिवस था” बन गया है सुबह से ही कुछ लिखने का बहुत मन कर रहा था ऐसा लग रहा था कि देश और दुनिया को भारत के लोकतंत्र के बारे में कुछ बताऊं, और साथ में यह भी बताऊं कि इस लोकतंत्र का क्या मायने रह […]

January 23, 2019

सुभाष चंद्र बोस

वैसे तो देश को गर्व करने के लिए मुख्यतः 2 दिन याद आता है एक जब हमें स्वतंत्रा मिली, जिसे हम स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं और दूसरा जब हमारे देश का संविधान लागू किया गया, जिसे हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं यह दोनों ही चीज किसी भी देश को सुचारू रूप से चलाने के लिए अत्यंत आवश्यक है जैसा कि हम सब […]

January 1, 2019

गर्व से कहो हम बिहारी हैं

यह पोस्ट सिर्फ मेरी सोच, कल्पना या अभिव्यक्ति का संग्रह नहीं है बल्कि यह पूर्णरूपेण विगत कुछ सालों में बिहार और उसके लोगों के प्रति दुनिया का दृष्टिकोण, अनुभव तथा विचारधारा का समावेश है | सबसे पहले यह स्पष्ट कर दूं कि यह पोस्ट किसी व्यक्ति विशेष जाति, समुदाय, प्रांत, राज्य को ध्यान में रखकर नहीं लिखा जा रहा है, लेकिन इतना जरूर कहना चाहूंगा कि […]